डिजिटल मार्केटिंग क्या है – What is digital marketing?

डिजिटल मार्केटिंग क्या है – What is digital marketing?

मित्रो! हर एक course और फील्ड का अपना महत्व होता है. पर आपको digital marketing क्या है? इसके बारे में पता है. आज दुनिया में काफी सारे छोटे-मोठे कोर्सेज है. जैसे फैशन डिजाइनिंग है, web designing है. ऐसे हजारो शोर्ट टर्म क्लासेज होते है. जिसके जरिये हम अच्छा नाम और पैसा कमा सकते है. लेकिन डिजिटल मार्केटिंग नाम की भी कोई चीज है. जो आज के digital युग में सबसे fast growing इंडस्ट्री है. इसका फ्यूचर भी ब्राइट है. क्योंकि, हर कंपनी को स्पर्धा में टिकने के लिए प्रचार करने के लिए ऐसी marketing srategy को अपनाना पड़ता है. खेर आज हम काफी इंट्रेस्टिंग टॉपिक पर बात करने वाले है. डिजिटल मार्केटिंग क्या है? इस सम्भंदित full guide लेने वाले है.

digital marketing kya hai - Online Marketing Guide in Hindi

मित्रो! आज का जमाना डिजिटल हो गया है. पहले, एक जमाना था. जब company को अपने product के promotion के लिये, काफी पैसा खर्च करना पड़ता था साथ ही कड़ी मेहनत करनी पड़ती थी. जब आप छोटे होंगे तब आपने sells-men को अपने घर आते देखा ही होगा. लेकिन आजके स्मार्ट युग में मार्केटिंग करने का तरीका ही बदल गया है. कंपनीया अभी TV, Radio, Newspaper का सहारा लेती है. लेकिन इसके अभी यह कॉमन तरीके हो गए ऊपर से काफी महेंगे भी है.

परंतु, किसी भी product अथवा business का promotion करने का एक और तरीका हे वो “डिजिटल मार्केटिंग” ही है. अपने product को प्रोमोट करने का Digital marketing बेस्ट रास्ता है. ऊपर से less costly भी है. अगर आप इसके बारे और जानना चाहते है. तो आर्टिकल को जरा ध्यान से पढ़िए. क्योंकि आज हम digital marketing क्या होता है? इसके बारे में पूरी जानकारी लेने वाले है.

Digital मार्केटिंग क्या है? 

I hope, आप मार्केटिग का अर्थ जानते ही होंगे. अगर नहीं तो सीधे शब्द में कहे तो प्रचार है. जैसे की मैंने, आपको ऊपर ही बताया. प्रचार करने के अलग-अलग sources है. जैसे TV जैसे बड़े platform पर advertisement करना, ठीक उसी प्रकार अख़बार और रेडियो पर विज्ञापन करना. लेकिन, इसके लिये काफी पैसा खर्च करना पड़ता है. परंतु, डिजिटल मार्केटिंग बहुत ही आसांन और कम खर्चिक है. जिसका इस्तेमाल अपने बिज़नेस के लिये हर कोई छोटा-बड़ा व्यक्ति कर सकता है. अगर हम “Digital marketing” इस word को पढ़ते है. तब हमें यह word ही सबकुछ बता देते है. इस शब्दों को अलग-अलग पढ़े तब ऐसा होगा: डिजिटल और मार्केटिंग. तो चलिए में अभी इसके बारे में सीधे शब्द में समझाने ने की कोशिश करता हूँ.

डिजिटल स्त्रोत जैसे social media, search engine, YouTube, email etc. इस तरह के जितने भी Digital platform है, उनके जरिये अपने प्रोडक्ट को लोगोतक पहुचना. दुसरे शब्द में, onlineऔर internet के माध्यम से अपने product का प्रचार करके अपने बिज़नेस को बढ़ावा देना. इसीको Digital marketing कहते है.

Also read:-

Digital marketing क्यों जरुरी है?

आप तो जानते है, आज का ज़माना डिजिटल का युग है. आज हर किसी के हात में mobile, घरमे computer और internet connection जुडा हुआ है. आश्चर्य की बाद, छोटे-छोटे गाव का व्यक्ति और बच्चा भी इंटरनेट से जुडा हुआ है. इतना ही नहीं, social media पर भी काफी active रहते है. तात्पर्य, एक ऐसी बड़ी community(समुदाय) हे जिनतक हमारा बिज़नेस पहुचना जरुरी है. जिस्से हमें व्यापर में लाभ होगा.

31 दिसम्बर २०१७, के सर्वे के नुसार पुरे दुनिया में लगबघ 7,634,758,428 इंटरनेट users है. तो आप ही सोचो अगर हमdigital marketing को अपना लेते है. तो कितने लोगो तक पहुँच सकते है. एक और बात इस टाइप के मार्केटिंग में हमें ज्यादा कुछ पैसे नहीं खर्च नहीं करने पड़ते. Digital marketing की एक और सबसे महत्वपूर्ण बात है. इसके जरिये हम सिर्फ targeted users को ही promote कर सकते है यानि जिन लोगो को हमारे business niche में intrest हम उनको ही target कर सकते है. उनपर ही पैसे खर्च कर सकते है.

For example, मान लीजिये आप कोई website designing & developing के classes लेते हो.  जैसेही कोई व्यक्ति website designing का course करना चाहता है. तो वह google पर ऐसे instutute के बारे में सर्च करेगा. And suppose, अगर आपने कोई website बनायीं हे और वह गुगल पर rank भी कर रही है. तो उस वेबसाइट से लोग आयेंगे और आपके institute में admission भी लेंगे.

जिसका मतलब वेबसाइट बनाने के लिए, खर्च भी कम लगा और इसके अलवा आपकी marketing strategy और effort उन्ही लोगोतक पहुंची. जिनको आपको बिज़नेस में intrest है. ठीक इसी प्रकार, अगर हम news paper में ad देते या फिर colleges के gate के बाहर रुककर studends को pamphlet बाँट देते है. तो इससे हमारे बहुत पैसे भी खर्च होते है. साथ ही हमारा ad उन लोगोतक भी पहुँच जाता है. जिनको हमारे propasal से कोही लेना-देना नहीं होता है. जो की एक bad marketing strategy है.

#Digital Marketing is a less costly & most effective way to target unique and interested audience. Which means there is a big chances of more sells and more revenue .

Digital marketing Course Assets or Modules(syllabus)

दोस्तों India में काफी सारे बड़े-बड़े डिजिटल मार्केटिंग इंस्टिट्यूट है. जो यह course provides करती है. नीचे के कुछ पॉइंट्स हे जिसे आप modules अथवा assets कहते है. सीधे शब्द में कहे तो, syllabus है. जिन्हें digital marketing course करते वक्त एक-एक चीज को समझना और सिखना पड़ता है.

  • Digital Marketing Overview – डिजिटल मार्केटिंग के बारे में basic जानकारी और importance इसके बारे में सिखाया जाता है.
  • Search Engine Optimization – अगर website को search engine में highest position पर rank करना हो. तो SEO का इस्तेमाल किया जाता है.
  • Content Marketing – किसी भी कंपनी के साईट के लिए कंटेंट लिखना पड़ता है. तो किस तरह का कंटेंट लिखना चाहिये. मतलब SEO के according आर्टिकल लिखना, इसके बारे में कंटेंट मार्केटिंग में सिखाया जाता है. इसमे Keyword researching, Image optimization, Description, keyword placement, etc. चीजे सिखाई जाती है.
  •  Local SEO – Local SEO में आपको Local area को ही कैसे target किया जाता है. जैसे अगर कोई सर्च करे, mobile repairing center me or mobile repairing in Mumbai. तो गूगल काफी सारे local businesses की लिस्ट शो करता है. लेकिन इसमें इसमे higher rank चाहिये. तो local SEO technique को apply करना पड़ता है.
  • App Store Optimization – Google play store जैसे app store में similar topic पर काफी सारे application upload की होती है. लेकिन इसमे भी हायर रैंक के लिये, App Store Optimization सिखना पड़ता है.
  • Website planning  – इस syllabus में website पर कैसे work करना है. कैसे manage करना है? इस बारे में cover किया जाता है.
  • Search Engine Marketing (SEM)SEM डिजिटल मार्केटिंग में paid तरीका है. मतलब इसे इस्तेमाल करने के लिए हमें पैसे देने पड़ते है. लेकिन, SEM वेबसाइट का प्रमोशन करने के लिए बेस्ट है. इस तरीके में हमें हमारे business के सम्भंदित webpage create करना पड़ता है. फिर google adword पर ads create करके publish करने पड़ते है. अब हम इसके लिये, पैसे दे रहे है. तो हमारा webpage search engine results में सबसे ऊपर show होगा. इसे paid result कहते है. जिसका benefit यह होता है. की हमें काफी सारे clicks मिलते है. और हमारा business module कम समय में काफी लोगो तक पहुँच जाता है.
  • Mobile Marketing – क्या आप जानते है? पूरी दुनिया में आज 5 billion mobile users है. इसका मतलब यह हुआ की, लोग computer से ज्यादा, mobile internet use करते है. तो ऐसे बड़े community को target करना बहुत फायदेमंद होगा. मोबाइल मार्केटिंग में हमें website को mobile friendly कैसे बनाना है. इसके बारे में पता चलता है. और आपके information के लिए बता देता हूँ. mobile और computers के रिजल्ट अलग-अलग होते है. तो अगर वेबसाइट मोबाइल फ्रेंडली है. तभी वो मोबाइल यूजर के लिए भी रैंक करेगी.
  • Video Marketing – कभी-कभी SEO और SEM से इतने अच्छे रिजल्ट नहीं मिलते. इसलिए कभी-कभी cross-promotion strategy को भी अपनाना पड़ता है. इसका example विडियो मार्केटिंग है. इस way में हम youtube जैसे बड़े प्लेटफार्म का इस्रेमाल कर सकते है.
  • Social Media Marketing –  cross-promotion में सोशल मीडिया भी आता है. आज युअवो में सोशल मीडिया का काफी सारा जुनून फैला है. आजकल युआ इसपर घंटोतक एक्टिव होते है. ऐसे में सोशल मीडिया मार्केटिंग की मदत से हमारे सर्विस के बारे में प्रचार करना और new offers को लोगोतक जल्द-जल्द पहुचना, इत्यादि. आसानी से किया जा सकता है.
  • LinkedIn Marketing – LinkedIn भी एक social platform है. लेकिन यह काफी advance platform है. इसीलिये इसे अलग session में कवर किया जाता है. इसकी खास बात यह है. की इसे ज्यादातर professional(व्यावसायिक) लोग ही इस्तेमाल करते है.
  • Google Analytics – Google Analytics से हम हमारे website में आ रहे traffic को analyze कर सकते है. इतना ही नहीं real-time कहासे visitor आ रहे है, किसे डिवाइस का इस्तेमाल कर रहे है, exact location क्या है, user का gender और age क्या है, etc. के बारे में आसानी से track कर सकते है.
  • Online Reputation Management – किसी डोमेन को हमेशा top पर रैंक करने के लिए reputation नाम का भी एक फैक्टर होता है. जिसे domain authority कहते है. Online Reputation में search engine यह देखता है. की, किसी website पर कितने लोग डोमेन डालकर विजिट करते है, डायरेक्ट ट्रैफिक कितना आता है, सोशल सिग्नल्स इत्यादी.
  • Email Marketing – ईमेल मार्केटिंग में अलग-अलग तरीकेसे हमें users के मेल कलेक्ट करने पड़ते है. फिर एक-एक कस्टमर को अच्छी सी टेम्पलेट डिजाईन करके मेल करने पड़ते है. अगर ईमेल में link ad की हुयी है. तो विजिटर को हम जहा पहुचाना चाहते है. तो पहुंचा जा सकता है.
  • Google Adsense – आज बहोत से लोग blogging करते है, जिनका कोई product नहीं होता. वह सिर्फ लोगो को online content provides करते हे और advertisement से पैसे कमाते है. तो अगर एड्स के through income को improve करना है. तो Adsense के CPC, CTR, RPM, Clicks, Bid इसके बारे में पता होना चाहिये.
  • Affiliate Marketing – एफिलिएट डिजिटल मार्केटिंग का हिस्सा नहीं पर यह earning करने का काफी अच्छा तरीका है. इसके जरिये google Adsense से भी अधिक कमाई की जा सकती है. लेकिंग यह काफी advance तरीका है. इसकारण, इससे भी अलग session में सिखाया जाता है. साथ में एफिलिएट के links को google पसंद नहीं करता. इसीलिये link cloaking के बारे में भी समझाया जाता है.

Digital Marketing के फायदे 

  1. डिजिटल मार्केटिंग बहुत ही आसान और सस्ता तरीका है किसी business के promosion के लिए.
  2. इस तरीकेसे हम real-time result देख सकते है. जैसे कस्टमर कहासे आ रहा है, हमारे product में intrested हे अथवा नहीं. हमारे ads को देखते है या नहीं. वही अगर दूसरी तरफ कोई कंपनी अख़बार में विज्ञापन देती है. तो उस विज्ञापन को कोई देख रहा हे अथवा नहीं. यह बताना काफी मुश्किल हे. लेकिन, online advertisement की मदत से हम सभी data को ट्रैक कर सकते है.
  3. हम digital marketing की मदत से अपने बिज़नेस को globally पहुंचा सकते है. जिससे हमें world-wide customer मिलेंगे.
  4. अगर हमारे कंपनी के product पर कोई ऑफर चल रही है. जो सिर्फ कुछ घंटो अथवा दिनों तक सिमित है. तो इस ऑफर को हम एड्स और सोशल मीडिया के माध्यम कम समय में ही वायरल कर सकते है.
  5. Digital marketing का सबसे बड़ा बेनिफिट यह है, की हम भारी मात्रा में income कर सकते है. साथमें वेबसाइट पर more traffic भी ला सकते है.

digital marketing opportunities in india

आपमेंसे बहुत से लोग इस कोर्स को करना पसंद करेंगे. उन सबको में यही कहना चाहूँगा, आज छोटी सी लेकर बड़ी कंपनी को अपने आय तथा सेल्स को बढ़ाने के लिए मार्केटिंग की जरुरत होती है. अगर start-up business है. तो भी उसीको प्रमोशन की जरुरत होती है. इसीलिये सारे कंपनिया को digital marketers की तलाश होती है.

तो अगर आप DG का कोर्स करना चाहते है. तो आपके लिये job opportunity हमेशा ही रहने वाली है. एक और खांस बात तो यह है. की, इसके बारे ज्यादा लोगो को नहीं पता होता है. जिसकारण job भी आसानी से मिल जाती है. सबसे बड़ी बात, अगर किसी को digital marketing आती है. तो वह blogging से पैसे कमा सकते है. नहीं तो आप Freelancer बनाकर भी काम कर सकते है. जिसमें आपको बाकि लोगों का काम करना पड़ता है. जिसके बदलें में अच्छे पैसे मिल सकते है.
Little more 
तो आजके आर्टिकल में हमने Digital marketing क्या है? इस सम्भंदित जानकारी ले लि. में उम्मीद करता हूँ. आपको आजका लेख काफी पसंद आया होगा. लेकिन अगर फिर भी कोई सवाल पूछना चाहते है. तो नीचे कमेंट करके पुछ सकते है.

 

About Rushikesh Sonawane

हेल्लो दोस्तों मेरा नाम Rushikesh Sonawane है. और मे jankaribook.com का founder हूँ. और मेने इस ब्लॉग को other blogger की help करने लिये बनाया है. वैसे तो मेरा nature काफी फ्रेंडली है. पर में ब्लॉग्गिंग को लेकर में काफी serious हूँ. blogging सिर्फ मेरी hobby नहीं, बल्कि मेरा जुनून है. And I always live for my passion... और जाने..

Leave a Comment