इंग्लिश बोलना सीखे – 6 Tips English Bolna Kaise Sikhe ?

इंग्लिश बोलना सीखे – 6 Tips English Bolna Kaise Sikhe ?

English बोलना सीखे – नमस्कार मित्रो आज हमारे क्रेश कोर्स का पहला दिन है. आज हम कोई grammar का लेसन नहीं पढ़ने वाले. बल्की, में आज आपसे कुछ टिप्स शेयर करने जा रहा हूँ. जिसे आपको आखरी लेक्चर तक फॉलो करना है.

तो आपको भी यही सवाल पड़ता है. की इंग्लिश बोलना कैसे सीखे? तो आप सही जगह पर आये है. आजके आर्टिकल में आज आपको कुछ ऐसे टिप्स बताऊंगा. जिसे बड़े-बड़े स्पोकन क्लासेज में स्टुडेंट को बताया जाता है. और आज जितने भी लोग fluently इंग्लिश बोलते है. उन्होंने भी ऐसे ही स्ट्रेटेजी को फॉलो करके अपने स्पीकिंग स्किल में इम्प्रूवमेंट किया है.

English Bolna sikhe - 6 टिप्स English बोलना कैसे सीखे ?

दोस्तों आगे बढ़ने से पहले में आपको कुछ सलाह देना चाहूँगा. अगर आप ऐसे सोचते है. की, में अग्रेजी बोल पाउँगा भी या नहीं. तो सबसे पहले अपने मन का डर दूर हटाईये. क्योंकि, एक बात का हमेशा ख्याल रखे. की, English कोई rocket science नहीं है. बल्कि, यह सिर्फ एक लैंग्वेज(भाषा) है. जिसका इस्तेमाल करके आप एक दूसरे को कम्यूनिकेट करते है. एक दूसरे के साथ सवांद करते है.

English बोलना इसीलिये, मुश्किल लगता है. क्योंकि, यह हमारी मदर tongue नहीं है. हमारे environment में उस भाषा का कोई इस्तेमाल नहीं करता. लेकिन, अगर हम ऐसा environment क्रिएट करते है. तो अवश्य इस भाषा में अपनी पकड़ मजबुत बनायेगे.

एक और बात को समझिये, आप चाहे कितने भी बड़े स्पोकन क्लास को ज्वाइन करिये. और वो आपसे कहते है. की, हमारे इंस्टिट्यूट में ३ महीने में आप fluently English बोलना सीखेंगे. तो यह आपकी गलतफेमी होगी. क्योंकि, वहा सिर्फ किस सिचुएशन में कैसी बात करनी है. और कब कोनसा टेंस यूज़ करना है. यही सीखेंगे. Overall सिर्फ सही ग्रामर सीखेंगे. लेकिन, उस grammatical ज्ञान को आपको जबान पर लाने के practice ही करनी पड़ेगी. और इंग्लिश बोलने के लिए प्रक्टिस के बिना न तो दूसरा रास्ता हे, और नाही कोही शॉर्टकट है. आपने सूना ही होगा practice makes man perfect. 

Read also:- 400+ lost of Verb in Hindi 

English Bolna sikhe : 6 Tips To learn English with fluently

तो गाइस निचे जो स्ट्रेटेजी दियी है. उसे बिलकुल carefully पढो. क्योंकि, आपको इसे अगले एक महीने तक बिना रुके फॉलो करना है. तभी आप इंग्लिश बोलना सीखेंगे.

1. Learn Tense and grammar 

अक्शर बहोत से लोग कहते है. की, ग्रामर को ज्यादा फोकस मत करो. पर मेरे ख्याल से वो गलत है. अगर हम सही ग्रामर का इस्तेमाल नहीं करेंगे तो हम कैसे सही इंग्लिश बोल पायेंगे. में यह नहीं कहता, की आप सभी ग्रामर का रट्टा मारो. लेकिन, जो जरुरी है. उसे तो समझना ही होगा.

जैसे अग्रेजी के ग्रामर में: टेंस, articles, modal auxiliary बहोत जरुरी है. इसके बिना आपमें fluency ही नहीं आएगी. बाकी ग्रामर के टॉपिक भी जरुरी है. लेकिन,  यह सबसे ज्यादा जरुरी है. आपको सबसे पहले इसे अच्छी तरह से सीखना होगा. लेकिन, by heart (रटकर) कभी नहीं करना है.

ग्रामर को सिखाने का सबसे अच्छा तरीका है. उसे कांसेप्ट को समझो. कब, कहा, किसका इस्तेमाल करना है. अगर आपको tenses सिखने है. तो अभी हमारा tense chart का आर्टिकल पढ़ सकते है. जिसमे हमने active and passive voice दोनों के फार्मूला दिए है.

2. Listening

शायद आपने वो कहावत सूनी होगी A good listener is always a good speaker. अगर नहीं सुना होगा तो अभी जान लीजिये. एक अच्छा सुननेवाला हमेशा एक अच्छा बोलनेवाला भी होता है. और किसी भी लैंग्वेज को सिखने के लिये, सुनना बहोत जरुरी होता है. तभी, वह वर्ड्स, सेंटेंसेस आटोमेटिक हमारे जुबान पर आते है.

तो आपका जो डेली का scheduled है. उसमे कमसे-कम आधा घंटा तो English भाषा को सुनिए. इसके लिये चाहे तो हॉलीवुड मूवी देख सकते है या फिर कोई motivational स्पीच लेकिन वह इंग्लिश में होना चाहिए. हो सकता है. की शुरू-शुरू में समझ न आये. पर आपको रूकना नहीं. रोजाना आधा घंटा कोई न कोई स्पीच जरुर सुनना है. जैसे-जैसे दिन बदलेंगे धीरे-धीरे करके सब समझने लगेगा. और automatically इंग्लिश आपके जुबान पर चढ़ने लगेगी.

read this: article in hindi a an the ka use 

3. Reading

हमारी तीसरी मेथड है. रीडिंग इसमे भी आपको रोज आधा घंटा इंग्लिश का कुछ न कुछ पढना है. चाहे आप न्यूज़ पेपर पढो या फिर स्टोरी बुक और understanding हो या ना. लेकिन आपको डेली पढ़ना है.

इसमे हम एक ओर टिप्स को फॉलो कर सकते है. जब हम कुछ इंग्लिश का आर्टिकल पढ़ते है. तब हमें ऐसे वर्ड्स को अंडरलाइन करना है. जिनका मीनिंग हमें पता नहीं. और बादमे हम उस वर्ड का गूगल अथवा डिक्शनरी के सहारे मीनिंग ढूंडना है. इस्से हमारी vocabulary भी improve होगी.

4. Thinking 

English बोलना न आना इसकी सबसे बड़ी वजह हे थिंकिंग और ऐसे बहोत से लोग हे जिनका यह मानना हे. की जब हम इंग्लिश में बोलने जाते है. तब हम हिंदी में सोचते है. यानि ट्रांसलेट करके फिर बोलते है. जिस्से हम फ़ास्ट नहीं बोल पाते.

इसका एक solution है. की, आप अपने मदर tongue में सोचने के बजाय इंग्लिश में सोचना शुरू करे. शुरू-शुरू में आपको बहुत कठिनाई होगी. लेकिन धीरे-धीरे यह आपके बाये हात का खेल होगा. जब आप अपने परिवार के साथ में बातचित कर रहे होंगे. तब इस चीज को फॉलो करना जरा मुश्किल है. लेकिन जब हम अकेले होंगे. तब यह करना बहुत इजी है.

English में सोचने से हमारी काफी अच्छी ब्रेन एक्सरसाइज होती है. और हमारा दिमाग इस भाषा को धीरे-धीरे करके अपना बना लेता है.

5. Speak in front of the mirror

ये टिप्स ख़ास उन लोगो के लिए है. जिनकी अक्शर यह शिकायत होती है. की उनके साथ English में conversation करने के लिए कोई नहीं होता. जिस्से उनकी अच्छे से practice नहीं होती. ऐसे में हमें करना क्या है. खुदको ही आयने में देखकर बोलना है.

शायद, आपको इस चीज पर हंसी आये या फिर बोरिंग लगे. लेकिन, आपको हर रोज कोई एक टॉपिक सेलेक्ट करना है. दो मिनट पहले उसके बारे में सोचना है. और जब बादमे हम आयने के सामने आये. तब बिना रुके सिर्फ बोलना है. अगर अटक भी जाते है, तो कोई बात नहीं लेकिन बोलना है.

For example आपने आज स्कूल में क्या किया? आपके favorite actor actress, आप क्या बनना चाहते है? ऐसा कोई भी टॉपिक लेकिन रोज बोलना है.

6. Make dummy call

शुरुवात में जान लीजिये. आपको इस टिप्स का गलत यूज़ नहीं करना हे और नहीं किसी को परेशान करना है. सिर्फ अपने spoken English को सुधारने के लिये इस चीज को अपनाना है.

तो क्या करना किसी को भी फेक कॉल करना है. और उनसे English में बात करनी है. जैसे सिम कार्ड के कस्टमर केयर को कॉल करो. उनसे न्यू ऑफर, प्लान्स के बारे में पूछो. या फिर paper में भी ऐसे बहोत एड्स आते है. ऐसे बहोत से helplines या customer care support हे जहा आप अग्रेजी में बातचीत कर सकते है. जैसे: 2 BHK flat in — area या फिर अन्य कोई विज्ञापन आपको उनको call करना है and उनसे conversation करना है.

लेकिन, फिरसे ध्यान रखिये किसीको परेशांन नहीं करना. उनको शक न हो इसीलिये, सिर्फ उनके सर्विस अथवा प्रोडक्ट के बारे में ही बात करे and most important जो भी conversation  करेंगे. वो English में ही होना चाहिए. इससे आपका confidence भी बढ़ जायेगा.

Conclusion

तो चलिए इस तरह से मैंने  English बोलना सीखने के लिये ,  6 टिप्स शेयर किये. I hope आपको सभी पसंद आये होंगे. तो बस  इन सभी मेथड को अच्छे से फॉलो करना है. याद रखे मैंने कही पर भी नहीं कहा की,  शुरू से perfection लाना है. मेरा आपसे यही कहना हे. आपको शुरू-शुरू में कठिन लगे, समझ न आये, बोरिंग लगे. पर आपको इसे हररोज बिना रुके फॉलो करना है. अगर आप ऐसा हर-रोज करते हो. तो मेरे ख्याल से आप 30-40 दिनों में fluent English बोलेंगे. Ok friends फिर मीलेंगे नए आर्टिकल के साथ! अगर  सचमुच पोस्ट अच्छी लगी हो. तो अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर जरुर शेयर करे.

About Rushikesh Sonawane

हेल्लो दोस्तों मेरा नाम Rushikesh Sonawane है. और मे jankaribook.com का founder हूँ. और मेने इस ब्लॉग को other blogger की help करने लिये बनाया है. वैसे तो मेरा nature काफी फ्रेंडली है. पर में ब्लॉग्गिंग को लेकर में काफी serious हूँ. blogging सिर्फ मेरी hobby नहीं, बल्कि मेरा जुनून है. And I always live for my passion... और जाने..

1 thought on “इंग्लिश बोलना सीखे – 6 Tips English Bolna Kaise Sikhe ?

Leave a Comment