26 Best Ever Republic Day Shayari गणतंत्र दिवस शायरी

26 Best Ever Republic Day Shayari गणतंत्र दिवस शायरी

26th January यानि भारत का गणतंत्र दिवस. इस मौके पर इस लेख में, Republic day shayari दी गयी है. जिसका इस्तेमाल आप 26 January speech अथवा अपने मित्रो को बधाई देने के लिए कर सकते है.

Republic day shayari in Hindi
Republic day shayari

ज्यादातर हम Whatsapp और facebook पर एक दुसरे को किसी विशेष मौके पर; शुभेच्छा देने के लिए करते है. लेकिन, गणतंत्र दिवस हमारे लिए बहुत ही बड़ा और गौरवशाली दिन है. इस दिन सभी भारतीय अपने friends and relatives को wish करते है. उसी अवसर को देखते हुये, इस लेख में मैंने 26 सबसे बढ़िया republic day शायरी का collection किया है.

Republic Day Shayari in Hindi

#1.
क्यों मरते हो यारो सनम के लिए,
ना देगी दुप्पटा कफ़न के लिए,
मरना है तो मारो वतन के लिए,
तिरंगा तो मिलेगा कफ़न के लिए।

#2.
ना मरो सनम बेवफा के लिए,
ना मरो सनम बेवफ़ा के लिए,
2 गज जमीन नही मिलेगी दफन के लिए,
मरना है तो मरो अपने वतन के लिए,
मरना है तो मरो अपने वतन के लिए,
हसीना भी दुपट्टा उतार देगी कफ़न के लिए।  

#3.
लहराएगा तिरंगा अब सारे आस्मां पर,
भारत का नाम होगा सब की जुबान पर,
ले लेंगे उसकी जान या खेलेंगे अपनी जान पर,
कोई जो उठाएगा आँख हमारे हिन्दुस्तान पर।

#4.
गूंज रहा है दुनिया में भारत का नगाड़ा,
चमक रहा आसमान में देश का सितारा,
आजादी के दिन आओ मिलकर करें दुआ,
उचाई की बुलंदी पर लहराता रहे तिरंगा हमारा।

#5.
ना सरकार मेरी है ना रौब मेरा है,
ना बड़ा सा नाम मेरा है,
मुझे तो एक छोटी सी बात का गौरव है,
मै हिन्दुस्तान का हूँ और हिन्दुस्तान मेरा है।

#6.
ज़िन्दगी है कल्पनाओ की जंग,
कुछ तो करो इसके लिये दबंग,
जियो शान से भरो उमंग,
लहराओ सब के दिल में देश के लिए तरंग।

#7.
आओ झुक कर सलाम करे उनको,
जिनके हिस्से में ये मुकाम आता है,
खुशनसीब होता है वो खून,
जो देश के काम आता है।

#8.
भारत के गणतंत्र का, सारे जग में मान,
दशकों से खिल रही, उसकी अद्भुत शान,
सब धर्मो को देकर मान रचा गया इतिहास का,
इसलिए हर देशवासी को इसमें है विश्वास।

#9.
दिल हमारे एक हैं एक ही है हमारी जान,
हिंदुस्तान हमारा है हम हैं इसकी शान,
जान लुटा देंगे वतन पे हो जायेंगे कुर्बान,
इसलिए हम कहते हैं मेरा भारत महान।

#10.
इंसाफ की डगर पे,
बच्चो दिखाओ चल के,
ये देश है तुम्हारा,
नेता तुम ही हो कल के।

#11.
चमन का फूल बनूँ, खुश्बुओं से भर जाऊँ,
वतन की शान बनूँ, काम बड़ा कर जाऊँ,
फ़लक के पार, तिरंगे का रंग बिखरा दूँ,
वतन के नाम दिलो जान, करूँ मर जाऊँ।

#12.
आज सलाम है उन वीरो को,
जिनके कारन ये दिन आता है,
वो माँ खुशनसीब होती है,
बलिदान जिनके बच्चो का देश के काम आता है।

#13.
मेरी पहचान… भारत महान
दिल भी तुम ,रूह तुम ,जान तुम!
फक्र तुम ,मान तुम,शान तुम,
साँस तुम ,तुम रगों का लहू !
आरज़ू तुम मेरी ,तुम्ही हो जुस्तुजू।

#14.
तुझको नमन ऐ मेरे वतन,
महिमा तेरी मैं क्या कहूं?
तेरे गुणों का गुणगान,
मैं हरदम यूं ही करती रहूं।

#15.
चलो फिर से खुद को जगाते है,
अनुसासन का डंडा फिर घुमाते है,
सुनहरा रंग है गणतंत्र का सहिदो के लहू से,
ऐसे सहिदो को हम सब सर झुकाते है।

#16.
तिरंगा हमारा हैं शान-ए-ज़िन्दगी,
वतन परस्ती हैं वफ़ा-ए-ज़मी,
देश के लिए मर मिटना कबूल हैं हमे,
अखण्ड भारत के स्वप्न का जूनून हैं हमे।

#17.
खूब बहती है अमन कि गंगा बहने दो,
मत फैलाओ देश में दंगा रहने दो,
लाल हरे रंग में ना बाटों हमको,
मेरे छत पर एक तिरंगा रहने दो।

#18.
भूख, गरीबी, लाचारी को, इस धरती से आज मिटायें,
भारत के भारतवासी को, उसके सब अधिकार दिलायें,
आओ सब मिलकर नये रूप में गणतंत्र मनायें ।

#19.
आज शहीदों ने है तुमको, अहले वतन ललकारा,
तोड़ो गुलामी की जंजीरें, बरसाओ अंगारा,
हिन्दू-मुस्लिम-सिख हमारा, भाई-भाई प्यारा,
यह है आजादी का झंडा, इसे सलाम हमारा ।

#20.
देश बह्क्तों के बलिदान से ,
स्वतनत्र हुए है हम ..
कोई पूछे कौन हो ,
तो गर्व से कहेंगे।
भारतीय है हम …

#21.
इंडियन होने पर करिये गर्व,
मिलकर मनाएं लोकतंत्र का पर्व,
देश के दुश्मनों को मिलकर हराओ,
हर घर पर तिरंगा लहराओ।

#22.
मेरे हर कतरे-कतरे में, हिन्दुस्थान लिख देना,
और जब मोत हो, तन पे, तीरंगे का कफन देना,
यही खुवाहिश खुदा हर जन्म हिन्दुस्तान वतन देना,
अगर देना तो दिल में देशभक्ति का चलन देना।

#23.
चड़ गये हंसकर सूली, खाई जिनोहने सीने पर गोली,
हम सब उनको प्रणाम करते है,
जो मिट गए देश पर हम सब उनको सालम करते है ,

#24.
सुंदर है जग में सबसे नाम भी न्यारा है,
जहां जाति भाषा से बढ़कर देश प्रेम की धारा है,
निश्चय पवन प्रेमपूर्ण और विशाल हृदय वाला है,
वह भारत देश हमारा है वह भारत देश हमारा है।

#25.
एक सैनिक ने क्या खूब कहा है…
किसी गजरे की खुशबु को महकता छोड़ आया हूं,
मेरी नन्ही सी चिड़िया को चहकता छोड़ आया हूं,
मुझे छाती से अपनी तू लगा लेना ऐ भारत मां,
मैं अपनी मां की बाहों को तरसता छोड़ आया हूं।
जय हिन्द..

#26.गांधी स्वपन जब सत्य बना,
देश तभी गणतंत्र बना,
जरा याद करों वीरो की कुर्बानी,
जिससे देश गणतंत्र बना।
Happy republic day 2018

Conclusion:- तो चलिये आज इस तरह आजके लेख में हमने 26 January shayari देखि. I hope, आपको आजका लेख काफी पसंद आया होगा. अगर आप इस अपने दोस्तों में share करना चाहते है. तो कर सकते है. बाकी, comment करके हमें जरुर बताईयेगा, की आपको यह republic day shayari कैसे लगी. धन्यवाद.

About Rushikesh Sonawane

हेल्लो दोस्तों मेरा नाम Rushikesh Sonawane है. और मे jankaribook.com का founder हूँ. और मेने इस ब्लॉग को other blogger की help करने लिये बनाया है. वैसे तो मेरा nature काफी फ्रेंडली है. पर में ब्लॉग्गिंग को लेकर में काफी serious हूँ. blogging सिर्फ मेरी hobby नहीं, बल्कि मेरा जुनून है. And I always live for my passion... और जाने..

2 thoughts on “26 Best Ever Republic Day Shayari गणतंत्र दिवस शायरी”

Leave a Comment